साइबर क्राइम:शहर में एक ही दिन में 26 लाेगों से ‌21.53 लाख की ऑनलाइन ठगी

टेक टर्म्स:एनएफसी और मोबाइल पेमेंट क्या होता है?
May 9, 2014
बड़ी लापरवाही:परीक्षा की कॉपियां जांचने में हो रही गलतियां, हर साल दस हजार फेल विद्यार्थियों में से 1500 रिअसेसमेंट में पास हो रहे
May 11, 2014

साइबर क्राइम:शहर में एक ही दिन में 26 लाेगों से ‌21.53 लाख की ऑनलाइन ठगी

  • पैसों की ठगी अलग-अलग थानों में प्रतिष्ठा को हानि पहुंचाने के कुल 40 केस दर्ज

सूरत शहर में बीते 24 घटों में साइबर ठगों ने करीब दाे दर्जन लोगों 21,53,916 की ठगी की। साइबर ठगों ने लोगों को थोड़ी सी लालच देकर उनके बैंक अकाउंट से लाखों रुपए पार कर दिए। सूरत शहर में साइबर ठगों के हमले लगातार बढ़ते जा रहे हैं।

इसी का एक उदाहरण बुधवार को देखने को मिला जहां एक साथ 26 मामले एक साथ साइबर क्राइम के दर्ज कराए गए। साइबर क्राइम को लेकर हालात इतने खराब हो चुके है पुलिस भी इन मामलों को रोक पाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है।

  • वराछा लूम्स व्यापारी महेश पटेल से 97,000 की ठगी हुई है। 11 जनवरी 2021 को रात 8 बजे अज्ञात नंबर से फोन आया और आरबीएल बैंक के क्रेडिट कार्ड की जानकारी लेकर ठगी की गई। पुलिस आगे की जांच कर रही है।
  • सरथाना मित्तल पांभर ने अनजान नंबर धारक के खिलाफ 66,968 रुपए की ठगी का मामला दर्ज करवाया है। वहीं दूसरा मामले में जेनिश भलाला से उसके अकाउंट से ऑनलाइन एप्लीकेशन के माध्यम से 24500 रुपए ट्रांसफर करा लिया गया।
  • लिंबायत भटाराम सोनावने ने अनजान नंबर धारा के खिलाफ 19950 रुपए की ठगी का मामला दर्ज करवाया है। वहीं दूसरे मामले में 57 वर्षीय रामनगीना यादव 99512 रुपए की ठगी का मामला दर्ज किया गया है।
  • गोडादरा व्यापारी मेहुल नकुम ने 54999 रुपए की ठगी का मामला दर्ज करवाया है। शिकायतकर्ता ने बताया कि 21 जनवरी को अनजान नंबर से फोन आया, सामने वाले ने कहा कि वह आरबीएल टीम से बोल रही है और क्रेडिट कार्ड का नंबर ले लिया।
  • सलाबतपूरा कपड़ा व्यापारी सुल्तान अली मोहम्मद कासिम कुरूमबेग को लोन पास होने का झांसा देकर 19 फरवरी 2021 को 85,549 रुपए अकाउंट से ट्रांसफर कर लिया। जब लोन नहीं मिला तो ठगी होने का पता चला।
  • पुणा योगेश सोनगडे ने बताया कि ऑनलाइन पिज्जा आर्डर करने पर बस 10 रुपए चुकाने के नाम पर उनको एक फॉर्म भेजा। फॉर्म भरकर सबमिट कर दिया कुछ देर उनके अकाउंट से 51686 रुपए िनकाल लिए गए।
  • अठवा तीर्थ टंडेल ने बताया कि 11 फरवरी को क्लब में मेंबरशिप पाने को लेकर उसने ऑनलाइन एप्लीकेशन से अलग-अलग ट्रांजेक्शन कराकर 1.23 लाख रुपए ट्रांसफर करा लिए गए। पुलिस इस मामले में आगे की छानबीन कर रही है।
  • उमरा जयंत पटेल नेे व्यापारी देवल कुमार शिंदे के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज करवाया है। शिकायतकर्ता ने बताया कि आरोपी 4 सितंबर 2019 को उसकी दुकान पर आया था और 10570 रुपए का सामान खरीद कर ठगी की।
  • पांडेसरा राजेश मौर्य दो अनजान नंबर धारकों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। ऑनलाइन पेमेंट सर्विस उनके अकाउंट 92920 रुपए ट्रांसफर करा लिया। तो वहीं योगेश्वर प्रजापति 23999 रुपए ट्रांसफर करा लिया।
  • अमरोली विनीत सुतरिया ने अनजान नंबर धारक के खिलाफ 260000 रुपए की ठगी का मामला दर्ज करवाया। उनसे ओटीपी के माध्यम से ठगी की गई। वहीं कृष्णा परमार ज्वेलरी खरीदने के नाम पर 74119 रुपए की ठगी का मामला दर्ज करवाया।
  • रांदेर रितेश चांचरियावाला आर्मी वाले की पहचान बताने वाले मंजीत सिंह के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। आरोपी ने ऑनलाइन पेमेंट एप्लीकेशन के माध्यम से 39168 रुपए ठग लिए। प्रसन्ना राजू से 409300 रुपए की ठगी ।
  • अडाजन कपड़ा व्यापारी धर्मेश मोदी ने शिकायत दर्ज करवाई कि 16 जनवरी को ड्रेस खरीदने के बहाने एडवांस पेमेंट 11000 करने को लेकर एक क्यूआर कोड स्कैन करने के लिए भेजा। जैसे ही स्कैन किया अकाउंट से 60798 रुपए कट गए।
  • जहांगीरपुरा पार्सिस लुकनर ने बताया कि अनजान नंबर से फोन आया और रेलवे टिकट का पैसा रिफंड करने की बात कर एनीडेस्क एप्लीकेशन डाउनलोड करवाया। इसके बाद अकाउंट से ओटीपी का उपयोग कर 199998 रुपए निकाल लिए।
  • इच्छापोर अंकित सावंत बताया कि 1 मार्च को उसे आरबीएल बैंक से फोन आया और क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने का कहकर उससे कार्ड की जानकारी ली और फिर अकाउंट से 25998 रुपए ट्रांसफर करा लिया।
  • डुमस पार्थ पटेल 14599 रुपए की ठगी का मामला दर्ज करवाया है। पार्थ ने बताया कि तीन अलग अलग नंबर से फोन आए और लोन देने का लालच देकर 14599 रुपए ट्रांसफर करा ली। इस मामलें की शिकायत पुलिस में दर्ज कराया गया है।
  • साइबर क्राइम अजय राठौड़ ने 69410 रुपए की ठगी का मामला दर्ज करवाया है। शिकायतकर्ता ने बताया कि 11 जनवरी को बाबू और सोनिया नाम के दो लोगों ने पहले से ही योजना बनाकर उसे ठगी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *